अंग्रेजी दैनिक समाचार पत्र The Hindu के माह अगस्‍त 2019 विशिष्‍ट समाचारों व
संपादकीय लेखों (editorial) का  हिन्‍दी में अनुवाद

01-08-2019: Logged out: On protecting Amazon rain-forest – (Editorial)

Courtesy and Credit: https://www.thehindu.com/opinion/editorial/logged-out/article28775712.ece

.

Brazil must recognize that the Amazon rain-forest is a universal treasure

 

यह वैश्विक चिंता का विषय है कि ब्राजील में अमेज़ॅन वर्षावनों में वनों की कटाई जनवरी 2019, जबसे जायर बोल्सोनारो (Jair Bolsonaro) ने राष्ट्रपति के रूप में पदभार संभाला है, तेजी से बढ़ रही है। सैटेलाइट इमेज से पता चलता है कि नई सरकार के शासन में 24 जुलाई तक लगभग 4,200 वर्ग किमी जंगल नष्ट हो गए हैं। जबकि अधिकांश राष्ट्र अपनी भूमि और वनों को अल्पकालिक आर्थिक लाभ के संकीर्ण दृष्टि के माध्यम से देखते हैं, जलवायु विज्ञान के आंकड़े बताते हैं कि वे एक बड़ी पर्यावरणीय भूमिका निभाते हैं। अमेज़ॅन बेसिन, जो अनेक देशों में लाखों हेक्टेयर में फैला हुआ है, बड़े पैमाने पर पृथक-पृथक रूप में छिटके हुये कार्बन को सिंक करता है, और मानसून प्रणालियों को विनियमित करने में वन एक महत्वपूर्ण कारक हैं। वर्षावनों में समृद्ध जैव विविधता और लगभग 400 ज्ञात स्वदेशी समूह को प्रश्रय देते हैं हैं, जिनकी उपस्थिति ने वाणिज्यिक हितों को भूमि के अतिक्रमण करने से जाने से रोक दिया है। अमेजन का ज्यादातर हिस्सा जंगलों को खेत, चरागाहों और सोने की खानों में बदलने और सड़कों के निर्माण के लिए अथक दबाव के बावजूद बचा हुआ है। यह नाजुक विरासत अब संकट में है, जैसा कि श्री बोल्सनारो ने इन भूमि के "उचित एवं युक्तियुक्‍त" दोहन के पक्ष में बयान दिया है। हालांकि वन नियमों को नहीं बदला गया है, लेकिन उनकी टिप्पणियों से जंगलों में अवैध विस्तार प्रारंभ हो गया है। हथियारबंद स्वर्ण लुटेरे गिरोह आदिवासी क्षेत्रों में पहुंच गए हैं और एक जनजाति के नेता की आकस्मिक हमला कर अमापा में हत्या की गई है। ये निराशाजनक घटनाक्रम हैं, और ब्राज़ीलियाई नेता द्वारा उपग्रह डेटा की आलोचना और हिंसा से इनकार किया जाना बिल्कुल भी विश्वासोत्पादक नहीं है।

अमेज़ॅन भूमि के लगभग 5 मिलियन वर्ग किलोमीटर में जंगलों के संरक्षक के रूप में, ब्राज़ील के पास अमेज़ॅन को अछूता रखने की अवसर लागत (opportunity cost) को पूरा करने पर अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के साथ जुड़ने से प्राप्‍त बहुत लाभ हैं। श्री बोल्सोनारो ने इस वर्ष जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र फ्रेमवर्क कन्वेंशन (UN Framework Convention on Climate Change) के वार्षिक सम्मेलन की मेजबानी करने से इनकार करके वन संरक्षण के लिए उच्च धनराशि प्राप्त करने का एक मूल्यवान अवसर खो दिया, लेकिन पेरिस समझौते से बाहर न निकलने का उनका निर्णय समझदारी का है। उस संधि (समझौते) को त्यागने से ब्राजील की, महत्वपूर्ण यूरोपीय संघ बाजार में, पहुंच को जोखिम में डालेगा। वैश्विक स्तर पर, अमेज़न के जंगलों को बचाने के लिए जबरदस्त आवेग है। ब्राजील को नॉर्वे और जर्मनी द्वारा समर्थित अरबों डॉलर के अमेज़ॅन फंड जैसी पहल को, जो एक दशक से अधिक समय से काम कर रहा है, बंद करने की कोशिश करने के बजाय स्वागत करना चाहिए। पर्यावरणीय सेवाओं के मूल्य के लिए निर्मित उपचारात्मक निधीयन (funding), सबसे अधिक लाभकारी और उपयोगी दृष्टिकोण है, क्योंकि मिट्टी और अन्य कारकों के कारण वनों को हटाकर उसके स्‍थान पर कृषि स्‍थापन में हर जगह मदद नहीं मिली है। विश्व बैंक द्वारा कुछ साल पहले एक अनुमान लगाया गया था कि भूमि के निम्नीकरण (degradation) के कारण 15 मिलियन हेक्टेयर का परित्याग किया गया था। ब्राजील के राष्ट्रपति को यह समझना चाहिए कि वर्षावन सार्वभौमिक खजाने हैं, और उनकी भूमि के लिए स्वदेशी समुदायों के अधिकार अपरिहार्य और अहस्‍तांतरणीय हैं। अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को श्री बोल्सनारो को यह समझाने के लिए कूटनीति का उपयोग करना चाहिए कि कोई अन्य सूत्रीकरण स्वीकार्य नहीं है।

Book1.JPG