1.इकाईयॉ और माप, दैनिक जीवन के उदाहरण (Units and Measurement, Example from daily life)

 

1.1इकाईयॉ और माप

किसी भी भौतिक मात्रा के मापन में जो घटक सदैव शामिल रहता है, वह है अंतरराष्ट्रीय स्तर पर निर्धारित एवं समस्‍त हितधारकों द्वारा अंगीकृत एक संदर्भ या मूल मानक जिसे इकाई (unit) कहा जाता है। यदि‍ हम अपने चारों ओर देखें तो हमें भौतिक राशियों की बहुत बड़ी संख्या मिलेगी, मगर हमें केवल सीमित संख्या में इकाइयों की आवश्यकता है, क्‍योंकि अधिकतर भौतिक राशियॉ पारस्‍परिक रूप से एक दूसरे से संबंधित होती हैं (उदाहरणार्थ, गति वास्‍तव में दूरी और समय से सम्‍बद्ध होती है) और ऐसी सीमित संख्या में इकाइयों को मूलभूत या आधार इकाई (fundamental or base units) कहा जाता है। आधार इकाइयों के संयोजन के अधार पर अन्य सभी भौतिक राशियों की इकाइयाँ व्यक्त की जा सकती हैं। आधार इकाइयों के ऐसे संयोजन से उत्‍पन्‍न ऐसी इकाइयों को व्युत्पन्न इकाइयाँ (derived units) कहा जाता है। आधार इकाइयों और व्युत्पन्न इकाइयों से जनित इन इकाइयों के समूह को इकाइयों की प्रणाली (system of units) के रूप में जाना जाता है।

1.2 कुछ समय पूर्व तक लम्‍बाई, द्रव्‍यमान और समय, जो मूल इकाईयॉ हैं, के मूल मात्रक हेतु तीन प्रणालियॉ थीं:

  1. MKS प्रणाली – लम्‍बाई के लिये मीटर, द्रव्‍यमान के लिये किलोग्राम और समय के लिये सेकेन्‍ड

  2. CGS प्रणाली – लम्‍बाई के लिये सेंटीमीटर, द्रव्‍यमान के लिये ग्राम और समय के लिये सेकेन्‍ड

  3. FPS प्रणाली – लम्‍बाई के लिये फुट, द्रव्‍यमान के लिये पाउंड और समय के लिये सेकेन्‍ड

 

इकाइयों की प्रणाली जो वर्तमान में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मापन के लिए स्वीकार की गई है, सिस्टेम इंटरनेशनेल डि यूनिट्स (फ्रेंच भाषा में मात्रकों की अंतर्राष्ट्रीय प्रणाली) {Système Internationale d’ Unites (French for International System of Units)} है, जिसे संक्षिप्त रूप में या संकेताक्षर में SI लिखा जाता है। SI प्रतीकों, मात्रकों और उनके संकेताक्षरों की योजना 1971 में, मापतोल के महा सम्मेलन द्वारा विकसित कर, वैज्ञानिक, तकनीकी, औद्यौगिक एवं व्यापारिक कार्यों में अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उपयोग हेतु अनुशंसित और अनुमोदित की गई। SI मात्रकों की 10 की घातों पर आधरित (दाश्मिक) प्रकृति के कारण, इस प्रणाली के अंतर्गत रूपांतरण अत्यंत सुगम एवं सुविधजनक है। SI प्रणाली में निम्‍नानुसार मूलभूत या आधार इकाई वाली कुल सात भौतिक राशियों को समाहित किया गया है: